बदरी-केदार की यात्रा में बाधा नहीं बनेगा सिरोबगड़

बदरी-केदार की यात्रा में बाधा नहीं बनेगा सिरोबगड़

Badri-kedarश्रीनगर और रूद्रप्रयाग के बीच स्थित सिरोबगड़ बदरीनाथ केदारनाथ की यात्रा में बाधक नहीं बनेगा। इसके लिए बाई पास मार्ग का निर्माण किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि बदरीनाथ हाई-वे पर श्रीनगर और रूद्रप्रयाग के बीच अस्सी के दशक से भू-स्खलन जाने सक्रिय है। बरसात के समय यहां पर रोड को मेंटेन करना बीआरओ के लिए खासा मुश्किल काम होता है। परिणाम अक्सर बदरीनाथ केदारनाथ की यात्रा बाधित हो जाती है।

कई बार तो तीर्थ यात्रियों को यहां पर आठ-आठ घंअे तक सड़क खुलने का इंतजार करना पड़ता है। करीब पांच वर्ष पूर्व बीआरओ ने भारत सरकार के सड़क परिवहन मंत्रालय को मौके पर टनल बनाने का प्रस्ताव दिया था। विभिन्न तकनीकी वजहों से मंत्रालय से टनल के प्रस्ताव को हरी झंडी नहीं मिल सकी।

अब समस्या के निस्तारण हेतु चार किमी. बाई पास मार्ग बनाया जाएगा। इसमें तीन मोटर पुलों का निर्माण होगा। जिसमें दो अलकनंदा नदी और एक खांकरा गधेरे पर बनेगा। बहुत संभव है कि उक्त प्रोजेक्ट पर अक्तूबर से धरातलीय काम शुरू हो जाए।

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय और प्रदेश की सरकारी मशीनरी इस काम को जल्द से जल्द पूरा कराना चाहती है। इस तरह से कहा जा सकता है कि लोगों को चारधाम यात्रा के दौरान सिरोबगड़ पर नहीं रूकना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

29 अप्रैल को खुलेंगे श्री केदारनाथ धाम के कपाट

रूद्रप्रयाग। विश्व प्रसिद्व भगवान श्री केदारनाथ मंदिर के