अमेरिका को भा गए हल्दी-चंदन के गुण

अमेरिका को भा गए हल्दी-चंदन के गुण

ayurvedaअमेरिका कैंसर के उपचार में आयुर्वेद को अजमाना चाहता है। कारण अमेरिकी वैज्ञानिकों को हल्दी, चंदन समेत तमाम आयुर्वेदिक औषधियों में चमत्कारी गुण मिले हैं।

अमेरिका के यूएस डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ और नेशनल इंस्टीटयूट मेडिकल साइंस ने कैंसर के उपचार में आयुर्वेद को अजमाने की तैयारी की है। इसके लिए दोनों अमेरिकी संस्थाओं ने भारत के विभिन्न आयुर्वेदिक संस्थानों से संपर्क किया है।

अमेरिका में करीब डेढ़ दशक से इस पर तैयारी चल रही है। अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हल्दी, चंदन, जीरा, सौंफ, दालचीनी, अदरक, लहसून के अलावा तमाम औषधीय जड़ी-बूटियों आदि आयुर्वेदि औषधियों के कंटेटस पर 10 हजार से अधिक रिसर्च पेपर तैयार हैं।

बहरहाल, अमेरिका के वैज्ञानिकों को यकीन हो चुका है कि आयुर्वेद में कैंसर से पार पाया जा सकता है। कहा जा सकता है कि भारत में अलमारियों में कैद आयुर्वेद का ज्ञान अब और जनपक्षीय बन सकता है।

मौजूद स्थिति ये है कि हल्दी वाला दूध तो अमेरिका में खासा प्रसिद्व हो चुका है। हल्दी के सॉफ्ट ड्रिंक भी बाजार में आने लगे हैं। 40 प्रतिशत आयुर्वेदिक दवाएं अमेरिका में ही खफ रही हैं। एक अनुमान के मुताबिक अमेरिका में तीन लाख से अधिक लोग पूरी तरह से आयुर्वेदिक आधारित जीवन जी रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आदिधाम श्री बदरीनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद

श्री बदरीनाथ। आदिधाम श्री बदरीनाथ धाम के कपाट