हैप्पी ईगासः नेताओं को पता है आप वोट किसे देंगे

हैप्पी ईगासः नेताओं को पता है आप वोट किसे देंगे

- in ऋषिकेश
696
0

ऋषिकेश। उत्तराखंडी समाज चुनाव में वोट किसे देगा? ये बात राज्य के अदने से नेता को भी पता है। जब नेताओं को ये पता है तो वो वोटर्स/समाज की चिंता क्यों करेंगे।

ताजा मामला पूर्वांचलियों के छठ पर्व पर सार्वजनिक अवकाश और उत्तराखंड के मूल निवासियों के ईगास पर्व पर सरकार की चुप्पी का है। तमाम अनुरोधों के बावजूद सरकार ने इस पर गौर नहीं किया। अब अनुरोध करने वालों का कुछ लोग मुंह चिढ़ा रहे हैं।

दरअसल, राज्य गठन के 20 सालों में अतिसाक्षर उत्तराखंडी समाज प्रेशर ग्रुप डेवेलप नहीं कर सका। ऐसा ग्रुप जिसकी आवाज/आहवान से सत्ता पर असर दिखे। देश के सभी राज्यों में राजनीति से इत्तर ऐसे ग्रुप हैं। सरकारें ऐसे गु्रप की उपेक्षा करने की हिम्मत नहीं जुटाती। उत्तराखंड में ऐसा नहीं है।

उत्तराखंड में ऐसा प्रेशर ग्रुप डेवेलप करने में भले ही मूल निवासी असफल रहे हों। मगर, बाहर से आकर राज्य में बसे लोगों ने ये कर दिखाया। सरकार उनकी चिंता करती है। उनके लिए हदें पार करती है। कोर्ट के निर्णयों को निष्प्रभावी बना देती है।

जबकि उत्तराखंडी समाज दो राजनीतिक दलों के हाथों की कठपुतली बनकर रह गया। दोनों दल पांच-पांच साल सरकार चलाते हैं। उन्हें यकीन है कि पांच साल विपक्ष में रहने के बाद सत्ता में आएंगे। सत्ता वालों को पता है कि पांच साल बाद विपक्ष में बैठना है।

इस तरह से कहा जा सकता है कि आपका वोट किसे पड़ेगा ये पता चलते ही नेता आपकी चिंता करना छोड़ देते हैं। ईगास पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने में रूचि न दिखाने के पीछे की वजह यही है। ऐसे में जरूरी है कि अपने तीज-त्योहारों को बगैर राजाश्रय के प्रोजेक्ट करें। अच्छे से मनाएं, युवा पीढ़ी को त्योहारों से अवगत कराएं, प्रेरित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

एसपी खाली होंगे संस्कृत शिक्षा विभाग के निदेशक

देहरादून। मंडलीय अपर निदेशक ( बेसिक शिक्षा) एसपी