श्राइन बोर्ड गठन का निर्णय वापस ले सरकार

श्राइन बोर्ड गठन का निर्णय वापस ले सरकार

- in धर्म-तीर्थ
464
0

देवप्रयाग। चारधाम सहित 51 मंदिरों के लिए श्राइन बोर्ड गठन के निर्णय को सरकार तुरंत वापस ले। ऐसा न होने पर तीर्थ पुरोहित और हक हकूधारी सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होंगे।

राज्य की भाजपा सरकार का मंदिरों की व्यवस्था के लिए श्राइन बोर्ड गठन के निर्णय का हर स्तर पर विरोध हो रहा है। देवप्रयाग में तीर्थ पुरोहित सड़कों पर उतर आए हैं। सोमवार को तीर्थ पुरोहितों ने तहसील के माध्यम से सरकार को ज्ञापन प्रेषित किया गया।

ज्ञापन में श्राइन बोर्ड गठन के निर्णय को वापस लेने की मांग की है। साथ ही कहा कि परंपरागत तरीके से अच्छे से संचालित हो रही धामों की व्यवस्था पर शासन का दखल ठीक नहीं है। इसका हर स्तर पर विरोध होगा।

ज्ञापन देने वालों में नगर पालिका की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती शुभांगी कोटियाल, हरीश तिवाड़ी, डा. प्रभात रतूड़ी, शशिकांत पंचभैया, नीता ध्यानी, अनुज ध्यानी, विनोद टोडरिया, रमाकांत पंचभैया, सनत अलखनिया, राकेश पंचभैया, आदित्य डंगवाल, मनीष सयाना, प्रवेश जोशी, उत्तम भटट, सुरेश सयाना, गौरव मिर्जापुरी, विवेक कोटियाल, राहुल कोटियाल, रघुनाथ प्रसाद बाबुलकर आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मेयर अनीता ममगाईं के प्रयासों की उत्तराखंड भर में हो रही सराहना

ऋषिकेश। एम्स में उत्तराखंड के लोगों के लिए