शिकायतें पुख्ता हैं तो एक्शन लें शिक्षा मंत्री

शिकायतें पुख्ता हैं तो एक्शन लें शिक्षा मंत्री

pandeyतबादले के लिए कुछ शिक्षकों द्वारा लगाए गए फर्जी प्रमाण पत्र की शिकायतें पुख्ता हैं तो शिक्षा मंत्री को एक्शन लेना चाहिए।

कथित शिकायतों के बाद प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने अनुरोध के आधार पर होने वाले तबादलों पर रोक लगा दी। इस पर राजकीय शिक्षक संघ ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। कहा कि यदि शिकायतें पुख्ता हैं तो शिक्षा मंत्री को उक्त शिक्षकों के खिलाफ सख्त एक्शन लेना चाहिए।

कहा कि जिन-जिन प्रमाण पत्रों के आधार पर शिक्षकों पर आरोप लग रहे हैं वो वास्तव में स्वास्थ्य विभाग, शासन और विधि विभाग से संबंधित हैं। ऐसे में शिक्षकों को बदनाम करना ठीक नहीं है। अच्छा होता कि उक्त विभागों से भी इस बारे में बात की जाती।

राजकीय शिक्षक संघ ने सवाल खड़े किए कि कांग्रेस शासन के अंतिम दिनों में हुए तबादलों को हरी झंडी देना कितना जायज है। विभाग को इस पर भी गौर करना चाहिए। मांग की कि अनुरोध के आधार पर तबादला प्रक्रिया जारी रखी जाए।
शिक्षक संघ में मतभेद
राजकीय शिक्षक संघ में अंदरखाने मतदभेद सामने आ रहे हैं। आरोप लग रहे हैं कि कुछ शिक्षक संघ को हर स्तर पर कमजोर करने की साजिश रच रहे हैं।
अपने हित के लिए कुछ शिक्षक संगठन का बुरा कर रहे हैं। सोशल मीडिया में संघ के जिम्मेदार पदाधिकारी इस तरफ इशारा भी करने लगे हैं।

शिकायत प्रकोष्ठ रडार पर
शिक्षकों की शिकायत और सुझाव के लिए बना प्रकोष्ठ विभिन्न वजहों से शिक्षकों के रडार पर है। इसको लेकर भी सोशल मीडिया में जितने मुंह उतनी बातें हो रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मेयर अनीता ममगाईं के प्रयासों की उत्तराखंड भर में हो रही सराहना

ऋषिकेश। एम्स में उत्तराखंड के लोगों के लिए