कंटेनमेंट जोन के प्रत्येक व्यक्ति की होगी कोरोना जांचः डीएम

कंटेनमेंट जोन के प्रत्येक व्यक्ति की होगी कोरोना जांचः डीएम

- in ऋषिकेश
0

मुनिकीरेती। कंटेनमेंट जोन के प्रत्येक व्यक्ति की कोरोना जांच होगी। साथ ही उक्त क्षेत्रों को एक्टिव सर्विलांस पर रखा जाएगा। इसके लिए 10 अतिरिक्त टीम तैनात की जा रही हैं।

गत दिनों शीशमझाड़ी क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के दो दर्जन से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने शुक्रवार को मौके पर जाकर तीनों कंटेनमेंट क्षेत्रों का निरीक्षण किया।

इस दौरान जिलाधिकारी ने स्वास्थ विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि कंटेनमेंट जोन के प्रत्येक व्यक्ति बुजुर्गों से लेकर बच्चे तक का सैंपल जांच हेतु लेकर लैब भेजा जाए। क्षेत्र के ऐसे विभिन्न नाको जो ऋषिकेश या आस्था पथ की तरफ खुलते हों को पूर्णता बंद किए जाने के निर्देश मौके पर दिए।

स्पष्ट किया कि बाहर का कोई भी व्यक्ति कंटेनमेंट जोन में प्रवेश न करने पाए। निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने नगर पालिका परिषद में अधिकारियों की बैठक ली। स्वास्थ्य विभाग व तमाम फ्रंटलाइन वर्कर्स को निर्देश दिए कि वे बिना पीपीई किट के किसी भी दशा में कंटेनमेंट जोन में प्रवेश ना करें।

कंटेनमेंट जोन में रह रहे व्यक्तियों को आवश्यक खान-पान की वस्तुओं की कोई कमी ना हो इस हेतु पूर्ति विभाग, राजस्व, पुलिस विभाग के अधिकारियों को संयुक्त रूप से टीम के रूप में कार्य करने के निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अगले 28 दिन तक कन्टेनमेंट जोन में प्रत्येक दिन एक्टिव सर्विलांस चलाया जाए। शीशम झाड़ी क्षेत्र में एक्टिव सर्विलांस व स्क्रीनिंग का कार्य निर्बाध रूप से चलता रहे इस हेतु स्वास्थ्य विभाग की 7 से 10 अतिरिक्त टीमो की तैनाती के भी निर्देश दिए हैं। कंटेनमेंट जोन सहित बफर जोन व शीशम झड़ी क्षेत्र में मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही के साथ ही जागरूकता अभियान चलाये जाने के निर्देश भी सभी संबंधित अधिकारियो को दिए।

जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी नरेंद्र नगर युक्ता मिश्र को निर्देश दिए कि विगत 10 दिनों में मेडिकल स्टोर द्वारा बेची गई बुखार व पेरासिटामोल जैसी दवाओं की जानकारी प्राप्त करें। उन्होंने यह भी स्पष्ठ किया कि कोरोना पॉजिटिव केस वाले व्यक्तियों को बिना चिकित्सक परामर्श के बुखार या पेरासिटामोल जैसी दवा देने वाले मेडिकल स्टोर संचालक के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए।

इसके अलावा मुनीकीरेती में प्रवेश करने वाले प्रत्येक टूरिस्ट का रैपिड एंटीजन टेस्ट कराने के भी निर्देश दिए गए हैं। बैठक में एसएसपी डा. योगेंद्र रावत ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने में तैनात पुलिस सहित तमाम फ्रंट लाइन वर्कर्स को दूसरों की सुरक्षा के साथ-साथ स्वयं की सुरक्षा को भी प्राथमिकता देनी होगी।

इस दौरान डीएसपी उत्तम सिंह नेगी, सीओ प्रमोद कुमार शाह, सीएमएस डीएच बौराड़ी डॉ अमित राय, सीएमएस एसडीएच नरेंद्रनगर डा. अनिल नेगी, डॉ. एलडी सेमवाल, पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी, ईओ बद्री प्रसाद भट्ट आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ेः अब देवप्रयाग में ही बनेगी एनसीसी एकेडमी

यह भी पढ़ेः एनएच-94 की अनियमितताओं पर डीएम सख्त, अधिकारियों को फटकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मुख्यमंत्री के ओएसडी का निधन

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के ओएसडी गोपाल