कांग्रेस कूदी आंदोलन में तो सरकार ने लिया आयुष छात्रों का संज्ञान

कांग्रेस कूदी आंदोलन में तो सरकार ने लिया आयुष छात्रों का संज्ञान

- in स्वास्थ्य
271
0

देहरादून। आयुष छात्रों के आंदोलन के पक्ष में कांग्रेस के खड़े हो जाने से दबाव में आई सरकार ने छात्रों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है।

फीस समेत तमाम मामलों में निजी आयुष कॉलेजों की मनमानी के खिलाफ छात्र लंबे समय से आंदोलनरत हैं। धरना, प्रदर्शन, क्रमिक अनशन और आमरण अनशन भी छात्रों ने किया। मगर, सरकार ने इसका कतई संज्ञान नहीं लिया।

छात्रों के समर्थन में कांग्रेस सड़कों पर उतरी तो सरकार पर दबाव महसूस होने लगा। आखिरकार सरकार को आयुष छात्रों के आंदोलन का संज्ञान लेने को मजबूर होना पड़ा। गुरूवार को सचिवालय में आयुष विभाग से सम्बन्धित बैठक में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि आयुर्वेद छात्रों की फीस निर्धारण हेतु स्थायी फीस निर्धारण समिति के शीघ्र गठन की भी कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

स्पष्ट किया कि इस मामले में हाईकोर्ट द्वारा समय-समय पर दिए गए निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। सीएम के निर्देशों के बाद उम्मीद है कि जल्द ही आंदोलनरत छात्रों को विभिन्न समस्याओं से निजात मिलेगी।

बैठक में आयुष मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, सचिव आयुष दिलीप जावलकर, सचिव न्याय प्रेम सिंह खिमाल, प्रभारी सचिव विनोद रतूड़ी, अपर सचिव आनन्द स्वरूप, संयुक्त सचिव एमएमसेमवाल, रजिस्ट्रार उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय डॉ. माधवी गोस्वामी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

105वीं जयंती पर याद किए गए टिहरी जनक्रांति के नायक

टिहरी। टिहरी जनक्रांति के नायक श्रीदेव सुमन को