ग्राउंड पर अजीबो गरीब स्थिति से गुजर रही भाजपा

ग्राउंड पर अजीबो गरीब स्थिति से गुजर रही भाजपा

- in राजनीति
0

पौड़ी। पिछले चार साल से हर चुनाव आसानी से जीत रही भाजपा जमीनी स्तर पर अजीबो गरीब स्थिति से गुजर रही है। यही वजह है कि कार्यकर्ताओं की टोह लेना मुश्किल हो रहा है।

उत्तराखंड की राजनीति में फिलहाल चारों ओर भाजपा ही भाजपा है। शत प्रतिशत लोकसभा सीट, 66 प्रतिशत राज्यसभा सीट, 80 प्रतिशत विधानसभा सीट। यही स्थिति निकाय और त्रिस्तरीय पंचायत में भी है। अब इस स्थिति को दोहराने की चुनौती है।

शुरूआत 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से होगी। भाजपा ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। सरकार ने अपने कामकाज को गति देने शुरू कर दी है। मंत्रियों के दौरे और संगठन ने जोर लगाना शुरू कर दिया है। मगर, काम इतना आसान नहीं दिख रहा हैं।

दरअसल, ग्राउंड स्तर पर स्थिति पहले जैसी नहीं लग रही है। कार्यकर्ताओं में 2014 और 2017 जैसा उत्साह नहीं दिख रहा है। भाजपा में शामिल हुए कांग्रेसियों के क्षेत्र में काफी कुछ सुनने और देखने को मिल रहा है। यहां अजीबो गरीब स्थिति दिख रही है।

राज्य में पार्टी की सरकार होने के बावजूद कार्यकर्ता जनता और सरकार के बीच सेतु नहीं बन सके हैं। वजह इस पर गौर नहीं किया गया। पार्टी के मंचों पर कार्यकर्ता इसकी शिकायत भी करने लगे हैं। यही वजह है कि प्रशिक्षणों के माध्यम से कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने और उनकी टोह लेना पार्टी के लिए मुश्किल हो रहा है।

ये बात अलग है कि भाजपा के दिग्गज नेताओं से लेकर कार्यकर्ता तक इस बात को मानने को तैयार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पौड़ी, टिहरी, अल्मोड़ा, बागेश्वर और पिथौरागढ़ से अच्छी खबर

देहरादून। राज्य के पांच जिलों पौड़ी, टिहरी, अल्मोड़ा,