कांग्रेस ने जानी भितरघात की कहानी

कांग्रेस ने जानी भितरघात की कहानी

Hath-Nishan-Congress (2)चुनाव परिणाम आने से पहले कांग्रेस ने पार्टी प्रत्याशियों से भितरघात की कहानी सुनी।

आमतौर पर राजनीतिक दल चुनाव की समीक्षा परिणाम आने के बाद करते हैं। मगर, कांग्रेस ने इस बार कुछ हटकर किया। हटकर ये कि चुनाव परिणाम आने से कुछ दिन पूर्व ही भितरघात की समीक्षा की। इसको लेकर राजनीतिक जानकारों में जितने मुंह उतनी बातें हो रही हैं।

प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय समेत पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी प्रत्याशियों से चुनाव की रिपोर्ट ली। रिपोर्ट में अधिकांश ने चुनाव में भीतरघात की बात कही। साथ ही पार्टी से मांग की कि भितरघातियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

यही नहीं चुनाव परिणाम से पहले ही अधिकांश प्रत्याशियों ने पार्टी के स्तर संसाधन मुहैया न कराए जाने की बात भी कही। टीम पीके को लेकर भी खूब सवाल उठे।

बहरहाल, इस समीक्षा के बाद ये तो तय हो गया है कि कांग्रेस अपनों के मुंह से 11 मार्च को आने वाले परिणाम के बारे में पहले ही अंदाजा लगाना चाहती है। इससे स्पष्ट है कि कांग्रेस की जीत भितरघात की इंटेनसिटी पर निर्भर करेगा।

भितरघात की जितना गहरा होगा सरकार रिपीट होने की उम्मीद उतनी ही कम होंगी। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि भितरघात कहीं सरकार की उम्मीदों को झटका तो नहीं दे रहा है। हालांकि इसके बावजूद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय बड़ी जीत का दावा कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

एचएनबीजीयू के आठवें दीक्षांत समारोह का ऑनलाइन पूर्वाभ्यास

श्रीनगर। हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय के