कोरोना की तीसरी लहर और स्कूल खोलने की तैयारी

कोरोना की तीसरी लहर और स्कूल खोलने की तैयारी

- in शिक्षा
0

देहरादून। प्रदेश सरकार एक तरफ कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी जोरशोर से कर रही है और दूसरी ओर स्कूलों को खोलने की बात भी होने लगी है। इस विरोधाभाष पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

तमाम एक्सपर्ट कह चुके हैं कि कोरोना की तीसरी लहर का आना तय है। आशंका है कि इससे बच्चे सबसे अधिक प्रभावित होंगे। तीसरी लहर से निपटने के लिए लिए हो रही तैयारियों में बच्चों पर अधिक फोकस किया जा रहा है।

हाईकोर्ट ने भी सरकार को इस बारे में निर्देशित किया है। इस तैयारी के बीच राज्य में स्कूलों को खोलने की तैयारी है। रहा है कि फिलहाल शिक्षकों के लिए ही अनिवार्य किया जाएगा। यूनिवर्सिटी और कॉलेज खुल चुके हैं।

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए हो रही तैयारियों के बीच स्कूल/कॉलेज खोलना पूरी तरह से विरोधाभाष है। इस पर सवाल खड़े हो रहे हैं। दरअसल, सरकार ने अभी तक स्कूलों के सत प्रतिशत शिक्षकों का टीकाकरण नहीं कराया।

सरकार इस पर सोच भी नहीं रही है। 44 साल से कम आयु वाले अधिकांश शिक्षकों का टीकारण नहीं हुआ है। ऐसे में स्कूलों को खोलना जोखिम बढ़ा सकता है। स्कूल/कॉलेज खोलने की एडवोकेसी करने वालों ने शिक्षक/प्राध्यापकों के टीकाकरण पर गौर ही नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राकेश कुंवर ने अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण के नए निदेशक का पदभार संभाला

देहरादून। शिक्षा विभाग के वरिष्ठ नौकरशाह राकेश कुंवर