दर्शकों को पूरे समय बांधे रखती है गढ़वाली फिल्म कन्यादान

दर्शकों को पूरे समय बांधे रखती है गढ़वाली फिल्म कन्यादान

रमेश चंद्र।
नई दिल्ली। गढ़वाली फिल्म कन्यादान दर्शकों को पूरे समय बांधे रखने में सफल हो रही है। फिल्म की विषय वस्तु से लेकर पात्रों का अभिनय और डायलॉग स्तरीय हैं।

सार्वभौमिक संस्था के अध्यक्ष अजय सिंह बिष्ट के प्रयासों का प्रतिफल और देबू रावत निर्देशित गढ़वाली फिल्म कन्यादान लोगों का ध्यान खिंचने में सफल होती दिख रही है। पांच जनवरी 2020 को गढ़वाल भवन दिल्ली में दिखाई गई।

फिल्म में बेहतर टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया है। चोपता की खूबसूरत वादियां फिल्म पर चार चांद लगाती हैं। नैसर्गिक सुंदरता पर्दे पर हर किसी को आकर्षित कर रही है। फिल्म में सभी कलाकारों ने अपना बेहतर दिया है। फिल्म का संगीत हर किसी को आकर्षित कर रहा है। फिल्म में पर्वतीय समाज के विभिन्न अवयवों को शानदार तरीके से उकेरा और प्रस्तुत किया गया है।

राजेश मालगुडी का फौजी का अभिनय शानदार तरीके से निभाया है। इसके अलावा मदन डुकलान और रमेश रावत ने किरदार के साथ पूरी तरह से न्याय किया। फिल्म में कुछ कमियों पर गौर करें तो कॉलेज फंक्शन को नहीं दिखाया गया। जबकि इस जिक्र किया गया। युवा वर्ग इसे जरूर देखना चाहता। फिल्म के कुछ हिस्सों को और बेहतर किया जा सकता था।

कुल मिलाकर कन्यादान एक अच्छी पारिवारिक फिल्म है। फिल्म के दोनों शो हाउस फुल रहे उपस्थित दर्शकों ने फिल्म को खूब सराहा और उम्मीद है कि आगे भी लोगों को ऐसी स्तरीय फिल्म देखने को मिलेंगी। फिल्म कन्यादान को लेकर लोगां का रिस्पांस काफी सकारात्मक दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना मीटरः 288 नए केस, 11 की मौत और 518 स्वस्थ हुए

देहरादून। उत्तराखंड पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण