गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज नरेंद्रनगर में विज्ञान दिवस पर राष्ट्रीय वेबीनार

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज नरेंद्रनगर में विज्ञान दिवस पर राष्ट्रीय वेबीनार

- in शिक्षा
0

नरेंद्रनगर। धर्मानंद उनियाल गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, नरेंद्रनगर में “विज्ञान, तकनीकी तथा नवाचार का भविष्य- शिक्षा कौशल तथा कार्य पर इसका प्रभाव“ विषयक ऑनलाइन राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया।

रविवार को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के मौके पर कॉलेज के विज्ञान संकाय के बैनर तक राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजित किया गया। इसमें विभिन्न राज्यों/संस्थानों के अकादमिक, वैज्ञानिक एवं इंडस्ट्रियल विशेषज्ञ ने शिरकत की।

वेबीनार का शुभारंभ करते हुए कॉलेज के प्रिंसिपल डा. अनिल कुमार नैथानी ने कहा कि तकनीकी नवाचार को मानव जाति की महानतम उपलब्धि है। वेबीनार में प्रेसीडेंसी कॉलेज चेन्नई के डॉक्टर शिव कुमार ने सर सी वी रमन तथा उनके शोध पर प्रकाश डालते हुए वैज्ञानिक शोध के लिए वैज्ञानिक सोच की आवश्यकता पर बल दिया।

जम्मू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर यशपाल शर्मा ने प्रकृति के साथ सामंजस्य बनाकर बनाकर रहते हुए प्रकृति के सहयोग की बात कीस विख्यात परिस्थितिक विज्ञानशास्त्री प्रोफेसर जी एस रजवार ने मानव जाति के क्रम विकास की व्याख्या के साथ विद्यार्थियों को संभावित वैज्ञानिक पाठ्यक्रम से भी अवगत कराया।

प्रख्यात शिक्षाविद् तथा पर्यावरणविद डॉ मधु थपलियाल ने विज्ञान में महिलाओं की भूमिका को उल्लेखित किया। वहीं मल्टीनेशनल फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री में कार्यरत मीनाक्षी उनियाल ने एक अणु के दवा बनने की यात्रा की चर्चा की, साथ ही विद्यार्थियों के लिए रोजगार के संभावित अवसरों की साझा किया। न्यू कॉलेज चेन्नई के डॉ आर सुगाराज सैमुअल ने “नवाचार क्या है“ पर अपने विचार रखते हुए विद्यार्थियों में वैज्ञानिक सोच के विकास की आवश्यकता पर बल दिया।

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, गोपेश्वर के डॉ मनीष बेलवाल ने आलू तथा ब्रेड पर होने वाली फंगल बीमारियों का वर्णन करते हुए बायो फर्टिलाइजर पर चर्चा प्रस्तुत की स इसी महाविद्यालय से भौतिक विज्ञान के विभागाध्यक्ष डॉ दिनेश चंद्र सती ने नैनो पार्टिकल्स तथा नैनोस्केल पर विज्ञान तथा तकनीकी की परिचर्चा की।

डॉ प्रियंका उनियाल ने कोविड-19 पांडेमिक के दौर में शिक्षा पर चर्चा की। गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, नई टिहरी के डॉ कुलदीप सिंह तथा गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, पिथौरागढ़ के डॉ. शंकर मंडल ने पुरातन तथा वैदिक शिक्षण पद्धतियों का वर्णन किया। कॉलेज के विद्यार्थियों प्रिया भंडारी, अंकित रंजन , गौरव अवस्थी एवं लव बिजलवान ने भी विभिन्न विषयों पर प्रस्तुतीकरण दिया।

संचालन डॉ रश्मि उनियाल, डॉ शैलजा रावत, डॉ चंदा टी नौटियाल एवं चेतन भट्ट द्वारा किया गया। इस अवसर पर डॉ नताशा डॉ विक्रम भरतवाण डॉ एम सुंद्रियाल डॉ सृचना सचदेवा डॉ पारुल मिश्रा डॉ हिमांशु जोशी डॉ. सोनी तिलारा डॉ सोनिया गंभीर डॉ संतोष कुमार व अन्य उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना अपडेटः 2757 नए मामले, 37 की मौत 802 स्वस्थ हुए

देहरादून। कोरोना संक्रमण राज्य के हेल्थ सिस्टम की