समाज के निर्णयों में हो महिलाओं की भूमिकाः डॉ उमा रावत

समाज के निर्णयों में हो महिलाओं की भूमिकाः डॉ उमा रावत

- in चमोली
0

गोपेश्वर। समाज के निर्णर्यों में महिलाएं प्रभावी भूमिका में हों। ऐसा होने पर ही वास्तविक महिला सशक्तिकरण नजर आएगा। इस दिशा में समाज के स्तर से प्र्रयास होने चाहिए। ताकि इसके लिए माहौल बन सकें। 

ये कहना है जिले की डिप्टी सीएमओ डा. उमा रावत का। डा. रावत गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, गोपेश्वर में महिला प्रकोष्ठ के बैनर तले अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहीं थी।

उन्होंने कहा कि महिलाओं को हर स्तर पर निर्णय लेने का अधिकार दिए जाने की आवश्यकता है। किसी महिला को सिर्फ नौकरी या कोई पद मिले तभी उसे सशक्त समझा जाए कोई जरूरी नहीं है बल्कि एक महिला स्वयं की इच्छा से क्या बनना चाहती है उसे वह बनने से रोका ना जाए यही उनके लिए सबसे बड़ा सशक्तिकरण होगा।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रुप में नगर पंचायत नंदप्रयाग की अध्यक्ष डॉ हिमानी वैष्णव ने कहा कि आज सरकारों द्वारा विभिन्न योजनाओं के माध्यम से महिलाओं को सशक्त किया जा रहा है जिसमें पैतृक संपत्ति में साझा अधिकार दिया जाना प्रमुख रूप है।

इस अवसर पर महिला प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित भाषण प्रतियोगिता में प्रियंका शाह ने प्रथम, नरेंद्र सिंह ने द्वितीय, मोहित मेहरा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। स्वरचित काव्य पाठ में नूपुर कुंवर ने प्रथम, कपिल सिंह ने द्वितीय एवं रश्मि ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में योगिता पंवार ने प्रथम, आस्था ने द्वितीय एवं अनीशा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कार्यक्रम में बीएड के छात्र-छात्राओं द्वारा महिलाओं के अधिकार एवं चुनौती पर एक शानदार नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया। जिससे सभागार तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजता रहा।

इस अवसर पर महिला प्रकोष्ठ की संयोजक डॉ हर्षी खंडूरी ने समस्त अतिथियों का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया। प्रभारी प्राचार्य डॉ मनोज उनियाल ने कहा कि आज विभिन्न क्षेत्रों में महिलाएं अपनी क्षमता के आधार पर नाम रोशन कर रही हैं।

कार्यक्रम में महाविद्यालय की दो पर्यावरण मित्र श्रीमती सुकेश एवं श्रीमती सुमन को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर महिला प्रकोष्ठ की डॉ भावना मेहरा, डॉ सरिता पंवार, डॉ रंजू बिष्ट, डॉ हेमलता बिष्ट, डॉ पूजा राठौर, डॉ सुदीप्ता, डॉ पूनम टाकुली, डॉ प्रियंका, डॉ ममता असवाल, डॉ वंदना, डॉ विनीता, डॉ विधि ध्यानी, डॉ संध्या, डॉ पूजा, आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हिमालयन नॉलेज नेटवर्कः यू-सैक स्टेट नोडल एजेंसी नामित

देहरादून। हिमालयन नॉलेज नेटवर्क के तहत विभिन्न क्षेत्रों