गवर्नमेंट पीजी कॉलेज उत्तरकाशी और डिग्री कॉलेज कमांद में पर्यावरण दिवस पर वेबिनार

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज उत्तरकाशी और डिग्री कॉलेज कमांद में पर्यावरण दिवस पर वेबिनार

उत्तरकाशी/कमांद। राम चंद्र उनियाल गवर्नमेंट पीजी कॉलेज उत्तरकाशी और गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज कमांद में विश्व पर्यावरण दिवस पर वेबिनार आयोजित किए गए। वेबिनार में तेजी से छीजती आदर्श पर्यावरणीय स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए बेहतरी के लिए काम करने का संकल्प लिया गया।

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, उत्तरकाशी के वनस्पति विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित वेबिनार की अध्यक्षता प्रिंसिपल प्रो. सविता गैरोला ने की। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए उन्होंने पर्यावरण का महत्व बताया और छात्र छात्राओं को पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित किया।

ार्यक्रम में प्रथम वक्ता पर्यावरण शिक्षा संस्थान के संस्थापक पर्यावरणविद सुरेश भाई ने छात्र छात्राओं को बताया कि किस तरीके से उन्होंने रायला, चौरंगीखाल, अयंरखा, भिलंगना के उदगम, भागीरथी के उदगम स्थलों में वनों के अवैध कटान को रोकने के लिए रक्षासूत्र आंदोलन किया और इस तरीके से मिश्रित वन संरक्षित किए।

उन्होंने श्रोताओं को पारिस्थितिकी तंत्र बहाली कर पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित किया। द्वितीय वक्ता पर्यावरणविद प्रथम गौरा देवी सम्मान प्राप्त जगत सिंह ’जंगली’ जी ने छात्र छात्रों के साथ अंतः संवाद किया। उन्होंने बताया कि किस तरीके से उन्होंने 2 हैक्टेयर पैत्रिक भूमि पर एक लाख से अधिक विभिन्न प्रजाति के पौधों का रोपण कर मिश्रित वन की स्थापना की।जंगली जी ने छात्र छात्राओं को आधुनिक लाइफ स्टाइल के साथ घर को ग्रीन हाउस बनाने की प्रेरणा दी।

अथिति वक्ता के के रूप में संस्कृत विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. डीडी पैन्यूली ने कहा की वैदिक काल से ही पर्यावरण संरक्षण किया जाता रहा है। हमारे वेद ऋचाओ में नीम, पीपल, केला आदि उपयोगी एवम औषधीय वृक्षों के संरक्षण के लिए उन्हें धर्म से जोड़ा गया। उन्होंने छात्र छात्रों को समझाया कि प्रकृति, जीव, जंतुओं के साथ हमारा मित्रवत व्यवहार होना चाहिए, इन्हें नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए।

कार्यक्रम के अंत में वनस्पति विज्ञान विभाग के विभाग प्रभारी डॉ. एमपीएस परमार द्वारा पर्यावरण संरक्षण की कविता के साथ सभी वक्ताओं एव वेबीनार से जुड़े प्राध्यापक छात्र छात्राओं को धन्यवाद दिया । कार्यक्रम का संचालन डॉ. रिचा बाधानी ने किया।

कार्यक्रम में डॉ. एमडी कुशवाहा, डॉ. एस.के. कुड़ियाल, डॉ. उषा रानी नेगी, डॉ. सुरेंद्र सिंह, डॉ. वीआर खण्डूरी, डॉ. विश्वनाथ राणा,डॉ.जय लक्ष्मी रावत, डॉ. आराधना, डॉ. सोनिया सैनी, डॉ. शिक्षा सेमवाल, डॉ. सुनीता, डॉ. रीना, डॉ. अरविंद रावत, डॉ. ए. के. अग्रवाल आदि प्राध्यापक वेबिनार में मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय डॉ. एमपी परमार, एवं कर्यालय कर्मियों द्वारा परिसर में पौधा रोपण किया गया।

कमांद। विश्व पर्यावरण दिवस“के अवसर पर गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, कमादं के राजनीति विभाग द्वारा“एनवायर्नमेंटल चैलेंज एंड सॉल्यूशन“ पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर बतौर मुख्य ब्याख्याता डॉ किरण बाला सहायक प्राध्यापक- समाजशास्त्र एस०एस०डी०पी०सी०(पी०जी०) कॉलेज रुड़की एवं डॉ संतोष कुमार चारण अस्सिस्टेंट प्रोफेसर-जूलॉजी राजस्थान यूनिवर्सिटी को सादर आमंत्रित किया गया।
“एनवायर्नमेंटल चेलेंज एंड सॉल्यूशन “पर आयोजित गोष्ठी के शुभारंभ करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ प्रशांत कुमार सिंह ने वेबिनार में उपस्थित अतिथियों,सभी प्राध्यापकों एवं छात्र/छात्राओं को सम्बोधित करते हुए , वर्तमान परिस्थितियों में पर्यावरण को प्रदूषण से मुक्त रखने के लिए सतत प्रयत्नों की नितान्त अपरिहार्यता पर जोर दिया।
उन्होंने छात्र/छात्राओं को पर्यावरण के प्रति जागरूकता का प्रचार-प्रसार करने की नसीहत दी। वेबिनार में लेक्चर प्रस्तुत करते हुए डॉ किरण बाला एवं डॉ संतोष कुमार चारण दोनो वक्ताओ ने मौजूदा परिस्तिथियों में पर्यावरण की चुनौतियों पर फ़ोकस करते हुए उसके समाधान पर विस्तृत चर्चा प्रस्तुत की।
सम्बंधित कार्यक्रम के संयोजक डॉ प्रवीन मलिक ने वेबिनार का शुभारंभ किया एवं समापन डॉ स्नेह शक्ति ने किया इस वर्चुअल इवेंट आर्गेनाइजेशन के अवसर पर कॉलेज के प्राध्यापक डॉ दीपक राणा, स्नेह शक्ति, वीनारानी,बिनीता भट्ट, प्रवीन, और मनोज कुमार उपस्थित रहे। महाविद्यालय के छात्र/छात्रओं के आलावा अन्य अतिथियों ने भी प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कोरोना अपडेटः 228 स्वस्थ हुए, 128 नए मामले और 02 की मौत

देहरादून। राज्य पिछले 24 घंटे में 228 लोग