मुख्यमंत्री ने जानकी सेतु की ओर झांका तक नहीं

मुख्यमंत्री ने जानकी सेतु की ओर झांका तक नहीं

Janki-setu

क्या जानकी सेतु का निर्माण पूरा होगा। कहीं भाजपा सरकार इसे 2007 की तरह ठंडे बस्ते में डालने की फिराक में तो नहीं है।

जी हां, इन दिनों लोगों के मन में यही सवाल चल रहे हैं। गंगा पर मुनिकीरेती और स्वर्गाश्रम के बीच निर्माणाधीन पुल 2006 में कांग्रेस शासन में स्वीकृत हुआ था। 2007 में भाजपा की सरकार आते ही पुल की फाइल बंद कर दी गई है।

पांच साल में इस दिशा में कुछ नहीं हुआ। 2012 में कांग्रेस सरकार ने इसके लिए 35 करोड़ स्वीकृत किए और काम शुरू कराया। कांग्रेस सरकार के रहते हुए इस पुल का अधिकांश काम पूरा हो गया। उम्मीद थी की नई सरकार आते ही पुल का अवशेष कार्य जल्द पूरा होगा। मगर, ऐसा होता दूर-दूर तक नहीं दिख रहा है।

दो दिन पूर्व प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत मुनिकीरेती आए। वो निर्माणाधीन जानकी सेतु के पास कुछ देर कार्यक्रम में रहे। मगर, 40 करोड़ के इस प्रोजेक्ट की ओर उन्होंने झांका तक नहीं। लोगों को उम्मीद थी कि मुख्यमंत्री इस पर कुछ बोलेंगे। आश्वासन देंगे। मगर, मुख्यमंत्री ने ऐसा कुछ नहीं किया।

ऐसे में ये आशंका बलवती होने लगी है कि कहीं जानकी सेतु का मामला ठंडे बस्ते में तो नहीं चला गया। 2007-12 के भाजपा के शासन में ऐसा ही कुछ हुआ था। हैरानगी की बात ये है कि भाजपाई भी इस पर चुप्पी साधे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा

देहरादून। राज्य में स्थित विश्वविद्यालय उत्तराखंड के जन