न जाने कब बनेगा सरकार का लॉकडाउन लगाने का मूड़

न जाने कब बनेगा सरकार का लॉकडाउन लगाने का मूड़

देहरादून। कोरोना संक्रमण में बेतहाशा बढ़ोत्तरी के बावजूद भाजपा की तीरथ सिंह रावत सरकार लॉकडाउन लगाने की मूड़ में नहीं दिख रही है। ऐसे में अब स्वतस्फूर्त लॉकडाउन की दरकार है। जागरूक लोगों में इसकी चर्चा भी होने लगी है।

राज्य में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो चुका है। क्या शहर क्या गांव हर जगह लोग कोरोना संक्रमण से कराह रहे हैं। सरकार की नाक के नीचे यानि देहरादून में हर रोज कोरोना का विस्फोट हो रहा है। हेल्थ सिस्टम की सांसे फूलने लगी हैं।

सरकार दावे, तैयारी, निरीक्षण से आगे नहीं बढ़ पा रही है। दावे धरातल पर मैच नहीं कर रहे हैं। तैयारियों के नाम क्या हो रहा है बताने की जरूरत नहीं है। यही हाल जिम्मेदार लोगों के दौरे और निरीक्षण का है।

हैरानगी की बात ये है कि प्रचंड बहुमत की सरकार जनता की मंशा को भी नहीं भांप पा रही है या उस पर गौर नहीं कर रही है। दरअसल, कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए अब लॉकडाउन ही एक मात्र विकल्प रह गया है।

कोरोना कर्फ्यू बेअसर साबित हो रहा है। आम जन सख्त लॉकडाउन की पैरवी कर रहा है। देश के चोटी के विशेषज्ञ भी लगा फाड़ फाड़कर लॉकडाउन लगाने की बात कर रहे हैं। मगर, तीरथ सरकार है कि इस पर गौर करने को तैयार नहीं है।

बताया तो ये भी जा रही है कि कई कैबिनेट मंत्री भी लॉकडाउन की पैरवी कर चुके हैं। मगर, सरकार फिर लॉकडाउन के मूड़ में नहीं हैं। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि आखिर तीरथ सरकार लॉकडाउन न लगाकर किसी इंप्रेस करना चाहते हैं।

बहरहाल, स्वयं, परिवार की, सामाज की और राज्य के लोगों की सुरक्षा के लिए लोगों को सेल्फ लॉडाउन करना होगा। घर में रहें, सुरक्षित रहें। बाहर निकलने पर मास्क का उपयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें। साबुन से बार-बार हाथ साफ करें। जनता से हारेगा कोरोना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हिमालयन नॉलेज नेटवर्कः यू-सैक स्टेट नोडल एजेंसी नामित

देहरादून। हिमालयन नॉलेज नेटवर्क के तहत विभिन्न क्षेत्रों