एनएच-94 की अनियमितताओं पर डीएम सख्त, अधिकारियों को फटकार

एनएच-94 की अनियमितताओं पर डीएम सख्त, अधिकारियों को फटकार

- in टिहरी
0

नई टिहरी। नरेंद्रनगर से चंबा तक की अधिकांश दूरी पैदल नापते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने ऑलवेदर रोड के तहत बन रहे एनएच-94 का निरीक्षण किया। इस दौरान जनता की शिकायत और प्रथम दृष्टया दिखी अनियमितताओं पर उन्होंने निर्माण एजेंसी के अधिकारियों को फटकार लगाई। साथ ही अधिकारियों को एक्शन लेने के निर्देश दिए।

मंगलवार देर रात तक जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने राष्ट्रीय राजमार्ग 94 नरेंद्र नगर से चंबा तक का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने नरेंद्र नगर से चम्बा तक कि आधी दूरी पैदल चलकर ही नाप डाली। इस दौरान जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय राजमार्ग -94 के चौड़ीकरण से प्रभावित स्थानीय जनता की समस्याओं को भी सुना।

निरीक्षण के दौरान अधिकार लोगो की शिकायत थी कि निर्माणदायी कंपनी एमजीसीपीएल व बीआरओ के अधीनस्थ कार्यदायी कंपनी भारत कंस्ट्रक्शन द्वारा मानकों के विपरीत कार्य किया जा रहा है साथ ही जनमानस/प्रभावितों के हितों को भी नजरअंदाज किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने प्रभावितो की समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए निर्माणदायी कंपनियों को सख्ती के साथ आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए है।

निरीक्षण के दौरान एनएच नरेंद्रनगर डंपिंग जोन से किमी एक से छः तक क्षतिग्रस्त रानीपोखरी मोटर मार्ग, फकोट-कटकोड मोटरमार्ग के किमी एक पर क्षतिग्रस्त मोटर मार्ग, खड़ी में निर्माणाधीन पुल की कम ऊंचाई के कारण गजा मोटर मार्ग का संरेखण बिगड़ने, एनएच पर बनाये गए कंक्रीट की बड़ी-बडी सुरक्षा दीवारों जो कि सीधी पाई गई। जिस पर जिलाधिकारी ने भी हैरानगी जताते हुए कहा कि कंपनियों द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्य प्रथम दृश्य से मानकों के विपरीत होना प्रतीत हो रहा है।

जिलाधिकारी ने लोनिवि की सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। वही उपजिलाधिकारी नरेंद्रनगर को निर्माण के मानकों की समीक्षा के निर्देश भी मौके पर दिए गए। जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को यह भी निर्देश दिए कि जिन बिंदुओं पर कंपनियों को कार्यवाही हेतु निर्देश दिए गए है उनकी निरंतर समीक्षा करें।

निरीक्षण के दौरान बस्तियों से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर जल की निकसी के लिए नालियों का भी एक्का-दुक्का ही निर्माण होना पाया गया। जिसपर जिलाधिकारी ने निर्माणदायी कंपनियों को कड़ी फटकार लगाई। कहा कि बस्तियों से गुजरने वाले मोटर मार्ग के दोनों तरफ नालियां बनाई जाए। वही माउंट कर्मन स्कूल के पास पीपल के पेड़ को हटाए जाने की विधिवत कार्यवाही हेतु डीएफओ को मौके पर ही निर्देश दिए।

इस दौरान जिलाधिकारी ने हिंडोलाखल में विगत दिनों में एनएच की सुरक्षा दीवार के गिरने से प्रभावित परिवार से भी मुलाकात कर सांत्वना देते हुए कहा कि जिला प्रशासन सदैव आपके साथ है। जिलाधिकारी ने प्रभावित परिवार के मकान निर्माण के लिए ग्रामसभा/राजस्व की सुरक्षित भूमि तलाशने के लिए उपजिलाधिकारी नरेंद्रनगर को प्राथमिकता से कार्यवाही के निर्देश दिए है।

दुवाधर में सेवकराम नौटियाल के मकान के ऊपर की एनएच सुरक्षा दीवार की स्टडी व ज्ञान सिंह के मकान के पास से गुजरने वाले एनएच के डिज़ाइन की समीक्षा के भी निर्देश एसडीएम को दिए। फकोट में मोटरमार्ग के ऊपर अटके खतरनाख बड़े बोल्डर को प्राथमिकता से हटने के निर्देश भी भारत कंस्ट्रक्शन कम्पनी को मौके पर दिए। आगर गांव के पास भागचंद सिंह के मकान में आई दरारों जैसे प्रकरण भी निरीक्षण में पाए गए।

इस दौरान उपजिलाधिकारी युक्ता मिश्र, ईई लिनीवि नरेंद्रनगर मोहम्मद आरिफ खान, बीआरओ के अधिकारी , निर्माणदायी कंपनियों के प्रतिनिधी जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ेः देश से जो वायदे किए उन्हें पूरा कर रहे हैं पीएम मोदीः तीरथ सिंह रावत

यह भी पढ़ेः राज्य के नौ युवाओं ने पास की यूपीएससी की परीक्षा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मुख्यमंत्री के ओएसडी का निधन

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के ओएसडी गोपाल