प्रमोशन में आरक्षण समाप्त नहीं हुआ तो चुनाव नोटा को देंगे वोट

प्रमोशन में आरक्षण समाप्त नहीं हुआ तो चुनाव नोटा को देंगे वोट

- in देहरादून
0

देहरादून। अखिल भारतीय समनता मंच ने ऐलान किया है कि एससी एसटी एक्ट में बिना दोषसिद्धि के जेल के प्रावधान को समाप्त करने, प्रमोशन में आरक्षण खत्म करने को एक्ट न बनाने और प्रदेश में सवर्ण आयोग गठित न होने पर आगामी चुनावों में नोटा का बटन दबाया जाएगा।

अखिल भारतीय समानता मंच उत्तराखंड की प्रान्तीय बैठक ऑनलाइन संपन्न हुई। बैठक में संगठन को मजबूत बनाने ,एस सी- एस टी एक्ट के दुरूपयोग को रोकने, संवैधानिक अधिकार प्राप्त शक्तिसंपन्न सवर्ण आयोग बनाये जाने, आरक्षण को केवल आर्थिक आधार पर तय करके असल जरुरतमंद जनरल, ओबीसी, एस सी, एस टी को एक बार नियुक्ति में ही उसका लाभ देने, हर जाति वर्ग के असल जरुरतमंद गरीब को बिना किसी भेदभाव के शिक्षा व कौशल प्राप्ति के लिए संरक्षण देने की बात पुरजोर तरीके से उठी।

बैठक में गोल्डन कार्ड योजना के अन्तर्गत निःशुल्क रोगी पंजीकरण, ओपीडी चिकित्सा , सभी तरह की जांचों , दवाइयों, उपकरणों समेत पंजीकृत अस्पतालों में संचालित हर तरह की चिकित्सा सुविधा का लाभ सेवारत व्यक्तियों व पेंशनरों को दिए जाने, ऐसी अचूक व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने तक पूर्व की भांति चिकित्सा प्रतिपूर्ति की व्यवस्था बहाल करने अथवा अव्यवस्था व असुविधा भरी गोल्डन कार्ड योजना बंद करने, पुरानी पैन्शन योजना लागू करने की मांग सहित अन्य मामलों में चर्चा की गई।

प्रांतीय अध्यक्ष श्याम लाल शर्मा की अध्यक्षता व प्रांतीय महासचिव जे पी कुकरेती के संचालन में संपन्न हुई बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी देते हुए प्रांतीय मीडिया प्रभारी वी के धस्माना ने बताया कि प्रदेश में अनुसूचित जाति जनजाति एक्ट के दुरूपयोग पर चिंता व्यक्त करते हुए उक्त एक्ट में बिना दोषसिद्धि के गिरफ्तारी पर प्रतिबंध लगाये जाने की मांग की गई।

वक्ताओं द्वारा कहा गया कि यदि उक्त एक्ट में बिना जांच व दोषसिद्धि के गिरफ्तारी की व्यवस्था में परिवर्तन न करते हुए पूर्व की तरह दो तीन सवर्ण जनरल ओबीसी की गवाही अनिवार्य नहीं की जाती है और तत्काल संवैधानिक शक्ति व अधिकार संपन्न सवर्ण आयोग का गठन किया जाए।

उक्त तमाम मांगों पर राजनैतिक दलों, सरकार द्वारा नहीं उठाया जाता तो और 2021 तक सकारात्मक निर्णय न होने की दशा में आगामी विधानसभा/ लोकसभा के चुनावों में सवर्ण समाज समेत सभी जागरूक जन नोटा का प्रयोग करेंगे।

उत्तराखंड में पदोन्नति में आरक्षण समाप्त किए जाने हेतु एक्ट बनाने एवं जिन विभागों, निगमों, संस्थानों में पदोन्नति लंबित हैं वहां शीघ्र ही बिना आरक्षण के पदोन्नति कराने की मांग की गई । गोल्डन कार्ड योजना में पंजीकरण पर्ची से लेकर दवा, जांचें आदि निःशुल्क मिलने और पंजीकृत अस्पतालों में जारी सभी तरह की चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित किए जाने तक सभी आच्छादितों एवं जिन कार्मिकों व पैंशनरों को गोल्डन कार्ड के बाबजूद चिकित्सा प्रतिपूर्ति का लाभ नहीं मिला है उन सभी को पुरानी व्यवस्था के अन्तर्गत लाभ अनुमन्य कराया जाय।

सभी कार्मिकों शिक्षकों अधिकारियों के लिए राज्य में पुरानी पैन्शन योजना ही लागू की जाय । इन बातों में हीलाहवाली या बहानेबाजी पर मंच के उद्देश्यों व नीतियों से सहमत जन ,युवा, बेरोजगार, अभिभावक आदि आगामी विधानसभा व लोकसभा चुनावों में नोटा का बटन दबाएंगे या उस उम्मीदवार का नैतिक समर्थन करेंगे जो कि मंच की मांग का समर्थन करते हैं ।

बैठक में सभी जनपदों के प्रतिनिधियों ने ऑनलाइन प्रतिभाग किया। बैठक में वी के धस्माना मीडिया प्रभारी ,जनपद पौड़ी गढ़वाल से विक्रम सिंह राणा, चमोली से ललित मोहन बिष्ट , रूद्रप्रयाग से मगनानन्द भट्ट उत्तरकाशी से एन एस राणा, पी सी तिवारी, अल्मोड़ा से धीरेन्द्र कुमार पाठक मनोज लोहनी, कोटद्वार से सरदार नरेश सिंह, बागेश्वर से के सी मिश्रा देहरादून से सत्यपाल देवरा, राजेंद्र सिंह चौहान , डॉ विवेकानंद सती ,डी एस सरियाल, ऊधम सिंह नगर से आदित्य गहलौत अतुल चौहान, पिथौरागढ़ से कैलाश पुनेठा, हरिद्वार से जटाशंकर आदि ने प्रतिभाग किया।

विशेष आमंत्रित सदस्यों में राष्ट्रीय महासचिव वी पी नौटियाल जी ने कहा कि अखिल भारतीय समानता मंच को मजबूत बनाने का काम किया जायेगा और सवर्ण समाज को उसके हक दिलाने कार्य किया जायेगा । उत्तराखंड स्तर पर भी सवर्ण आयोग गठित करने के प्रयास किए जायेंगें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राकेश कुंवर ने अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण के नए निदेशक का पदभार संभाला

देहरादून। शिक्षा विभाग के वरिष्ठ नौकरशाह राकेश कुंवर