प्रोफेसर जीएस रजवार राजकीय सेवा से निवृत्त

प्रोफेसर जीएस रजवार राजकीय सेवा से निवृत्त

- in ऋषिकेश
0

अगस्त्यमुनि। कक्षा से इत्तर समाज और क्षेत्र को समझने और उसकी बेहतरी के लिए काम करने वाले प्रोफेसर जीएस रजवार राजकीय सेवा से निवृत्त हो गए।

वर्ष 1977 में गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज कोटद्वार से बतौर प्राध्यापक राजकीय सेवा शुरू करने वाले प्रो. रजवार 43 साल की सेवा के बाद गवर्नमेंट पीजी कॉलेज अगस्त्यमुनि के प्रिंसिपल पद से सेवानिवृत्त हो गए। उन्होंने उत्तरकाशी, ऋषिकेश में बतौर प्राध्यापक और जोशीमठ और नरेंद्रनगर में बातौर प्रिंसिपल सेवाएं दी।

सेवा निवृत्ति के वर्ष में अपने कागज तैयार करने के बजाए प्रो. रजवार ने पूरी ताकत कॉलेज के नैक निरीक्षण के लिए लगाई और कॉलेज को बी ग्रेड में लाकर सेवा निवृत्त हो गए। सरकारी सेवा में ऐसी प्रतिबद्धता बहुत कम देखने को मिलती है।

मुझे प्रो. रजवार की क्लास पढ़ने का मौका नहीं मिला। मगर, उनके काम और प्रतिबद्धता को नजदीक से देखने का खूब मौका मिला। इसका लाभ भी उठाया। उच्च शिक्षा, पर्यावरण और समाज के बारे में उनसे काफी कुछ सीखने को मिला।

वनस्पति विज्ञान और पर्यावरण के क्षेत्र में उनकी गिनती अंतराष्ट्रीय स्तर के वैज्ञानिक के तौर पर होती है। श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय की लगभग हर कमेटी में रजवार काम कर चुके हैं। उच्च शिक्षा निदेशालय में बतौर उपनिदेशक उनके कार्यों को याद किया जाता है। जोशीमठ, नरेंद्रनगर कॉलेजों को जमाने का श्रेय भी उन्हें जाता है।

विज्ञान में बड़ा नाम होने के बावजूद समाज से जुड़े मुददों पर उनकी अच्छी पकड़ है। बेहद सरल और समय के पाबंद प्रो. रजवार के पढ़े छात्रों को वो हमेशा याद आएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हिमालयन नॉलेज नेटवर्कः यू-सैक स्टेट नोडल एजेंसी नामित

देहरादून। हिमालयन नॉलेज नेटवर्क के तहत विभिन्न क्षेत्रों