राज्यसभाः कहीं देखते न रह जाएं उत्तराखंड के भाजपाई

राज्यसभाः कहीं देखते न रह जाएं उत्तराखंड के भाजपाई

देहरादून। राज्यसभा जाने के लिए जोर लगा रहे उत्तराखंड के भाजपा नेताओं के हाथ निराशा लग सकती है। इसकी वजह गुटबाजी राज्यसभा सीट के लिए शुरू हुई गुटबाजी है।

इन दिनों भाजपा के करीब आधा दर्जन नेता मार्च में खाली हो रही राज्यसभा सीट के लिए जोर लगा रहे हैं। इसके लिए शह और मात का खेल चरम पर पहुंच गया है। इसकी आंच कहीं न कहीं प्रदेश की प्रचंड बहुमत की भाजपा सरकार तक भी महसूस की जा रही है।

ये बात अब हाईकमान तक भी पहुंच गई है। जाहिर है कि हाईकमान के लिए भी अब निर्णय लेने आसान नहीं होगा। कम से कम सभी गुटों को साधना मुश्किल होगा। ऐसे में बहुत संभव है कि हाईकमान विवाद से बचने के लिए कुछ हटकर निर्णय ले।

संभव है कि किसी केंद्रीय मंत्री को उत्तराखंड से राज्यसभा भेजा जाए। करीब चार केंद्रीय मंत्रियों का राज्यसभा का कार्यकाल मार्च 2018 में ही समाप्त हो रहा है। इसके अलावा कुछ बाहर से कुछ और चेहरों के नाम भी चर्चा में हैं।

यदि ऐसा हुआ तो उत्तराखंड के भाजपा नेताओं के हाथ निराशा ही लगेगी। इस बात की आशंका अब पार्टी के दिग्गज नेताओं को भी होने लगी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ऑनलाइन कैंप के लिए तैयार एनसीसी कैडेटस

कोटद्वार। गवर्नमेंट पीजी कॉलेज, कोटद्वार में एनसीसी कैडेटस