बागेश्वर का उत्तरायणी मेला शुरू, राजकीय मेला घोषित

बागेश्वर का उत्तरायणी मेला शुरू, राजकीय मेला घोषित

बागेश्वर। भगवान बागनाथ की विशेष पूजा अर्चना के साथ ऐतिहासिक बागेश्वर मेला शुरू हो गया। इस मौके पर बागेश्वर की बेहतरी के लिए तमाम घोषणाएं की गई।

शनिवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नुमाइश मेला मैदान, बागेश्वर में पौराणिक, धार्मिक एवं ऐतिहासिक उत्तरायणी मेले का शुभारम्भ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि मेले समृद्धि के प्रतीक होते हैं। मुख्यमंत्री ने उत्तरायणी मेले को राजकीय मेला घोषित करने ने समेत बागेश्वर की बेहतरी के लिए तमाम घोषणाएं की।

इसमें राजकीय इण्टर कॉलेज सिरकोट का नाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व.खडक सिंह के नाम पर रखे जाने, बागेश्वर शहर को ग्रेविटी का जल उपलब्ध कराने के लिए जलनिगम एवं जलसंस्थान को बैजनाथ क्षेत्र में कार्य योजना तैयार करने, शहर में कूडे के निस्तारण हेतु किलवैस्ट मशीन देने एवं प्लास्टिक बोतलों के निस्तारण हेतु स्मार्टविन मशीन देने की घोषणा भी की।

कहा कि हर जिला अस्पताल में आई.सी.यू. देने का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया है। विशेषकर दूरस्थ क्षेत्रों के चिकित्सालयों में महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। जिला अस्पताल बागेश्वर में 16 चिकित्सकों की तैनाती की गई है। प्रदेश में 173 चिकित्सकों की तैनाती कर दी गई है। शीघ्र 150 चिकित्सको एवं नर्सो की भर्ती भी जल्द की जायेगी।

मुख्यमंत्री ने उत्तरायणी मेले के उद्घाटन अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई विकास प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्षा गीता रावल द्वारा मुख्यमंत्री को शॉल ओढाकर सम्मानित किया गया।  केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री अजय टम्टा ने कहा कि यह मेला अपने आप में एक बहुत बडा धार्मिक, ऐतिहासिक व पौराणिक मेला है। इसे भव्य रूप देने का प्रयास किया जायेगा।

कैबिनेट मंत्री श्री प्रकाश पन्त ने कहा कि मेले हमारी धरोहर है, इन्हे संजोये रखना हम सभी का दायित्व बनता है। उन्होंने कहा कि बागेश्वर का आजादी में बहुत बडा योगदान रहा है कुली बेगार प्रथा का समापन इसी बागनाथ की भूमि से सरयू गोमती के संगम पर हुआ था। इसलिए बागेश्वर का महत्व और भी बढ़ जाता है।

इस अवसर पर विधायक चन्दन राम दास, विधायक बलवन्त सिंह भौर्याल, अध्यक्ष जिला पंचायत हरीश सिंह ऐठानी, अध्यक्ष नगर पंचायत कपकोट चम्पा देवी, जिलाधिकारी रंजना राजगुरू, पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति, जिला स्तरीय अधिकारी, स्थानीय जनता व क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय को भाया ऋषिकेश नगर निगम का प्रोजेक्ट

ऋषिकेश। केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय को ऋषिकेश नगर