भगत की नसीहत, सिटिंग गेटिंग के भ्रम में न रहें भाजपा के विधायक

भगत की नसीहत, सिटिंग गेटिंग के भ्रम में न रहें भाजपा के विधायक

- in राजनीति
0

देहरादून। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत की पार्टी विधायकों को दी गई नसीहत के राजनीतिक मायने निकाले जाने लगे हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं को ये साफगोई खासी भा रही है।

2017 में भाजपा के 60 प्रतिशत से अधिक विधायक मोदी के नाम पर जीते। मोदी लहर नहीं चल रही होती तो भाजपा को उत्तराखंड में भूतो न भविष्यति वाले बहुमत नहीं मिलता। 2017 के बाद निकाय और पंचायत चुनाव में भी कुछ-कुछ ऐसा ही दिखा। 2019 के आम चुनाव में पार्टी राज्य की पांच लोकसभा सीट जीतने में सफल रही।

मोदी के नाम पर लगातार जीत से कहीं न कहीं पार्टी के विधायकों में ये बात आ गई कि मोदी आएंगे और 2022 में नैया पार लगा देंगे। इस भाव से पार्टी के कुछ विधायक एक तरह से जनता से कटने लगे हैं। ऐसा लंबे समय से देखा जा रहा है।

विधायकों की निष्क्रियता या कुछ ही लोगों तक सीमित रहने की चर्चे पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच भी होते रहे हैं। निष्क्रियता के आरोप बड़े पदों पर आसीन नेताओं पर भी लग रहे हैं। इन्हें बातों को देखते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने विधायक को खरी-खरी नसीहत दे डाली। इसमें उन्होंने जनता से जुड़ने, क्षेत्र में सक्रिय रहने पर जोर दिया है।

साथ ही प्रदेश अध्यक्ष भगत ने संकेत भी दे दिए हैं कि 2022 के लिए पार्टी एक-एक सीट पर फीडबैक लेने लगी है। ये कहकर प्रदेश अध्यक्ष ने सिटिंग गेटिंग के भ्रम को भी दूर करने का प्रयास किया है।

यह भी पढ़ेः डा. अनूप डिमरी होंगे देहरादून के नए सीएमओ, रमोला हटाए गए

यह भी पढ़ेः देहरादून जिले के कई थानेदारों के तबादले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राज्य सभाः पूर्व सीएम विजय बहुगुणा की राह में रोड़े

देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के राज्य सभा