कैंसर से बचने को जागरूकता जरूरी

कैंसर से बचने को जागरूकता जरूरी

- in ऋषिकेश
0

ऋषिकेश। विश्व भर में अभी तक रिपोर्ट हुए दो सौ प्रकार के कैंसर से बचने के लिए जागरूकता जरूरी है। इसके लिए जानकार लोगों को आगे आना चाहिए।

ये कहना है जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रो वाइस चांसलर प्रो. राणा प्रताप सिंह का। मौका पर श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय के परिसर, ऋषिकेश के मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी विभाग के तत्वाधान मानव स्वास्थ्य एवं कैंसर की रोकथाम पर राष्ट्रीय वेबीनार का ।

प्रो. बताया कि आँकड़ो अनुसार 2020 तक विकासशील देशों में कैंसर से पीड़ित लोगों का आंकड़ा 20 लाख तक पहुँच जाएगा, इसके साथ उन्होंने बताया कि भारत मे अभी लगभग 17 लाख कैंसर के नए मरीज है और 8 लाख की मृत्यु हो चुकी हैं।

विश्व भर में लगभग 200 प्रकार के कैंसर है जिसमें भारत में मुँह का कैंसर, गर्भाशय, सर्विसक्स, ब्रेस्ट कैंसर मुख्यतः होता है। उन्होंने कैंसर के उत्तपन्न होने के कारणों पर चर्चा की, उन्होंने कहा कि यदि सभी जागरुक रहे तो कैंसर से बचा जा सकता है, उन्होंने कई औषधीय गुणों युक्त पोधों के बारे मे बताया जिनके उपयोग कर कैंसर से बचा जा सकता है, उन्होंने कैंसर जागरूक के लिए चलाए जा रहे अनेको प्रोग्राम के बारे में भी बताया।

वेबिनार के मुख्य संरक्षक कुलपति प्रो. पी.पी ध्यानी ने वेबीनार के आयोजन के लिए विभाग, व महाविद्यालय को बधाई दी तथा कहा कि इस तरह की बीमारी के लिए वेबीनार व चर्चा की बहुत आवश्यकता है उन्होंने विभाग से अपेक्षा की 15 दिन का जागरूकता अभियान चलाया जाए जिससे कैंसर से पीड़ित लोगों व उनके परिजनों को मानसिक तनाव से बचाया जाए व उत्तराखंड के औषधीय पौधों पर अनुसंधान करने को कहा।

इस वेबिनार के आयोजन सचिव प्रो गुलशन कुमार ढींगरा ने वेबीनार के बारे में विस्तार से जानकारी दी। वेबीनार की संरक्षक एवं कॉलेज की प्रिंसिपल प्रो. सुधा भारद्वाज ने प्रो राणा पी सिंह व व कुलपति प्रो पी पी ध्यानी व सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया, व कहा कि यह वेबिनार सभी के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होगा।

वेबिनार का उद्घाटन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी की छात्रा वैष्णवी तिवारी के मंत्रोच्चारण के साथ हुआ। संचालन सफिया हसन ने किया। इस मौके पर पर श्रीमती शालिनी कोटियाल, सुश्री सफिया हसन,श्री अर्जुन पालीवाल एवं तकनीकी सहायता के लिए श्री देवेंद्र भट्ट तथा श्री विवेक राजभर ने सहयोग प्रदान किया।

यह भी पढ़ेः मीनाक्षी सुंदरम को शिक्षा महानिदेशक का भी प्रभार

यह भी पढ़ेः अपना उत्तराखंड-अपनी संस्कृति’ऑनलाइन ज्ञान प्रतियोगिता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मुख्यमंत्री के ओएसडी का निधन

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के ओएसडी गोपाल